Saturday, August 13News

टारगेट किलिंग रोकने के लिए बनी रणनीति, 177 कश्मीरी पंडित टीचर्स का ट्रांसफर

घाटी में टारगेट किलिंग के बीच जगती कैंप से निकलता एक परिवार. फोटो-PTI

कश्मीर में एक महीने से भी कम समय में लगातार हो रही रही टारगेट किलिंग और सात मई से अब तक नौ लोगों को निशाना बनाए जाने से फैली दहशत से आम लोगों में सुरक्षा का भाव पैदा करने के लिए प्रशासन ने कमर कसी है। श्रीनगर के विभिन्न इलाकों में तैनात कश्मीरी पंडितों का जिला मुख्यालय में ट्रांसफर या फिर समायोजन कर दिया गया है। श्रीनगर स्थित चीफ एजुकेशन ऑफिसर की ओर से जारी एक पत्र में इसकी जानकारी दी गई है। बताया जा रहा है कि घाटी से कश्मीरी पंडितों के पलायन के बीच उन्हें सुरक्षा का एहसास दिलाने के लिए सरकार की ओर से ये कदम उठाया गया है।

बता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को एक हाई लेवल मीटिंग की थी। मीटिंग में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के अलावा NSA डोभाल, जम्मू-कश्मीर के डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस दिलबाग सिंह, केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के महानिदेशक कुलदीप सिंह और सीमा सुरक्षा बल के प्रमुख पंकज सिंह भी मौजूद थे।

बता दें कि कश्मीरी पंडितों की हत्‍या को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। हाल ही में आतंकियों ने बैंक में घुसकर एक राजस्थान के रहने वाले युवक की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इससे पहले कुलगाम जिले के एक स्कूल में आतंकवादियों ने शिक्षक रजनी बाला को मार दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.