Saturday, August 13News

90 घंटो से बोरवेल में फंसा है राहुल

तकरीबन 90 घंटो से ज्यादा का वक्त हो चला है और करीब 80 फीट जमीन के नीचे एक मासूम सी जिंदगी फंसी पड़ी है। हम बात कर रहे है छत्तीसगढ़ के जांजगीर की जहां मात्र 10 साल का राहुल एक बोरवेल में फंसा पड़ा है। खुदाई में देखते ही देखते दिन बीत गए और आज पांचवें दिन की भी शुरुआत हो गई है लेकिन राहुल अब तक बोरवेल से बाहर नहीं निकल पाया है. इसे निकालने के लिए लगातार 91 घंटे से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। एनडीआरएफ, सेना, स्थानीय पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों सहित 500 से अधिक कर्मी शुक्रवार शाम से चल रहे इस व्यापक बचाव अभियान में जुटे हुए हैं। जानकारी के मुताबिक राहुल लगातार बोरवेल में फंसे होने के कारण कमजोर पड़ गया है.

राहुल को दिया जा रहा है ऑक्सीज़नः

बता दे कि राहुल को बचाने के लिए ऑक्सीजन सप्लाई किया जा रहा है. अब तक 30 से ज्यादा सिलेंडर का उपयोग किया जा चुका है. राहुल को खाने के लिए केला और जूस दिया जा रहा है. लेकिन आज जब राहुल के लिए बोरवेल के अंदर केला भेजा गया तो राहुल केले को कलेक्ट नहीं कर पाया। जिससे यह अंदाजा लगाया जा रहा कि राहुल की हालत बेहद नाजुक होती जा रही है। और आज का ये दिन राहुल के लिए काफी अहम भी हो गया है।

दरअसल, पूरा मामला ये है कि राहुल साहू नाम का बच्चा बीते शुक्रवार की दोपहर खेलने के लिए अपने घर के पीछे गया था। लेकिन ध्यान न रहने के कारण वहां खुले बोरवेल में गिर गया। इस बोरवेल की गहराई करीब 80 फीट है जिसमें राहुल 63 फीट की गहराई में फंसा है। इस घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन तुरंत अलर्ट हो गया। और शाम चार बजे से बचाव कार्य शुरू कर दिया। वहीं एनडीआरएफ की टीम बता रही है की चट्टान तोड़ने के बाद जल्द ही राहुल को रेस्क्यू कर बाहर निकाल लिया जाएगा.

मौके पर तैनात हैं मेडिकल टीमः

राहुल के तत्काल चिकित्सीय उपचार के लिए मेडीकल की टीम को मौके पर तैनात किया गया है. और जरूरत पड़ने पर सीधे बिलासपुर भेजने की भी तैयारी की गई है. बता दें कि राहुल तक पंहुच बनाने के लिए रेस्क्यू टीम बोरवेल के पेररल गहराई तक मिट्टी पत्थर हटाने के बाद रविवार रात से टनल बनाने में जुटी हुई है। जहां राहुल फंसा है उसके कुछ फीट नीचे तक सुरंग तैयार की जा रही है. राहुल को चोट न लगे इसलिए ड्रिल मशीन के माध्यम से ही बड़े बड़े पत्थरों को तोड़कर राहुल के करीब टीम पहुंच रही है। और इतना ही नहीं सुरंग से राहुल की आवाज भी सुनाई दी जिसके बाद अब मैनुअली टनल को बनाया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक ऑपरेशन अपने अंतिम चरण की ओर है क्योंकि NDRF की टीम बोरवेल में फंसे राहुल के पास पहुंचने ही वाली है और अब से 1 घंटे बाद राहुल हम सबके बीच होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.