Thursday, June 30News

कासगंज में भी अग्निपथ का विरोध, सड़को पर उतरे सैकड़ों युवा

हाथों में तिरंगा लेकर सड़कों पर उतरा देश का भविष्य, अग्निपथ योजना को बताया युवाओ के लिए हानिकारक

कासगंज : बेरोजगारी कम करने के लिए और युवाओं के अंदर देशभक्ति का जज्बा पैदा करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना का विरोध पूर्वोत्तर के राज्यों समेत पूरे देश में हो रहा है, बिहार समेत देश के पूर्वोत्तर राज्यों का युवा इस समय सड़कों पर है और सेना भर्ती के लिए बदले गए नियम का लगातार विरोध कर रहा है ।
शनिवार को यूपी के कासगंज में राजनीतिक दलों एवं युवाओं द्वारा अग्निपथ योजना का विरोध करते हुए प्रदर्शन किया गया, सैकड़ों की तादात में युवा हाथों में तिरंगा लेकर सड़कों पर उतर आए और सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।
राजनीतिक दल भारतीय जनवादी नौजवान सभा के साथ नालंदा क्लासेस एंड साक्षी फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर के छात्र ,सैकड़ों की तादात में ढोलना कोतवाली क्षेत्र के नगला पट्टी स्थित स्टेडियम में एकत्रित हुए ,उसके बाद हाथों में तिरंगा लेकर सड़क पर पैदल मार्च निकाला।

राष्ट्रपति के नाम एसडीएम सदर को सौंपा ज्ञापन।
सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए युवा नगला पट्टी से कासगंज शहर की तरफ बढ़ने लगे, सूचना पर सीओ सिटी डीके पंत के साथ एसडीएम सदर पंकज कुमार मौके पर पहुंच गए और प्रदर्शन कर रहे युवाओं से बातचीत कर उन्हें शांत करने का प्रयास किया।
अधिकारियों के समझाने पर युवा मान गए और उन्होंने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एसडीएम सदर को सौंपा और अग्निपथ योजना को रद्द करने की मांग की।

ARO आगरा द्वारा निरस्त की गई सेना भर्ती का विरोध

प्रदर्शन कर रहे युवाओं की एक और मांग थी की आगरा सेना भर्ती केंद्र में वर्ष 2020 में जो फिजिकल परीक्षा हुई थी उस भर्ती को बहाल किया जाए, मीडिया से बात करते हुए एक प्रदर्शनकारी बीरेश राजपूत ने बताया कि वर्ष 2020 में आगरा सेना भर्ती केंद्र द्वारा युवाओं की फिजिकल परीक्षा कराई गई थी जिसमें उत्तीर्ण हुए सैकड़ों युवा लिखित साक्षात्कार का इंतजार कर रहे थे।
लेकिन अंतिम समय में आगरा सेना भर्ती केंद्र द्वारा उक्त परीक्षा को रद्द कर दिया गया जिससे युवा बहुत आहत है ,प्रदर्शनकारियों की मांग थी कि उक्त परीक्षा को बहाल किया जाए।

प्रदर्शन की आहट से खड़े हुए पुलिस प्रशासन के कान, एसपी ने खुद संभाला मोर्चा।

जिले में हो रहे प्रदर्शन की भनक लगते ही पुलिस प्रशासन के कान खड़े हो गए, आनन-फानन में ढोलना के अतिरिक्त कासगंज और सहावर का फोर्स मौके पर बुला लिया गया और सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी एसपी ने खुद संभाली।
कासगंज एसपी रोहन प्रमोद बोत्रे, एडीएम अजय श्रीवास्तव और एएसपी अनिल सिसोदिया के साथ का दिन बाईपास पर पहुंच गए और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.