Thursday, June 30News

उत्तराखंड

उफनती नदियां, टूटते पुल और गिरते मकान, उत्तराखंड में भारी बारिश से कोहराम

उफनती नदियां, टूटते पुल और गिरते मकान, उत्तराखंड में भारी बारिश से कोहराम

Breaking News, State, उत्तराखंड
उत्तराखंड में भारी बारिश के बीच आज नैनीताल जिले के रामगढ़ गांव में बादल फटने की घटना सामने आई है। कुछ देर हुई बारिश के कारण पूरा क्षेत्र जलमग्न हो गया बस्तियों में केवल पानी ही पानी नजर आ रहा है। बादल फटने से कई लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है। पुलिस प्रशासन की टीमों ने मौके पर पहुंचकर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है। बता दें कि उत्तराखंड में भारी बारिश से अब तक पांच लोगों की जान जा चुकी है। बादल फटने के बाद एसएसपी प्रीति प्रियदर्शिनी ने कहा कि नैनीताल जिले के रामगढ़ गांव में जहां बादल फटा था, वहां से कुछ घायलों को बचा लिया गया है। अभी कितने लोग मलबे में दबे हो सकते हैं इसकी कोई वास्तविक संख्या का पता नहीं चल पाया है। वहीं डीजीपी अशोक कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि उत्तराखंड के रामनगर से रानीखेत जाने वाले मार्ग पर मोहान में लेमन ट्री रिसोर्ट में कोसी नदी का पानी...
स्थानीय लोगों का आरोप, बद्रीनाथ धाम में ईद के मौके अदा की गई नमाज

स्थानीय लोगों का आरोप, बद्रीनाथ धाम में ईद के मौके अदा की गई नमाज

State, उत्तराखंड
नई दिल्ली। उत्तराखंड के चमोली स्थित हिंदूओं के प्रमुख तीर्थ स्थल बद्रीनाथ धाम में ईद के मौके पर मुस्लिम श्रमिकों द्वारा नमाज अदा किए जाने का मुद्दा गरमा गया है। स्थानीय लोगों का आरोप है कि एक तरफ बदरीनाथ धाम के लोगों को कोविड का हवाला देकर मंदिर में जाने नहीं दिया जा रहा है, जबकि दूसरी तरफ सारी मान्यताओं को ध्वस्त करते हुए यहां ईद की नमाज पढ़ने की इजाजत दे दी गई। बुधवार को बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने मंदिर के आसपास जुटकर विरोध प्रदर्शन किया। हिंदू संगठनों ने इसे लेकर उत्तराखंड के पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज से मुलाकात कर कार्रवाई की मांग की। तूल पकड़ने के बाद चमोली पुलिस अधीक्षक ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं साथ ही ट्वीट कर सफाई भी दी है। पुलिस अधीक्षक ने दी सफाई चमोली के पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने कहा कि बदरीनाथ में एक पार्किंग बन रही है जो मंदिर से एक किलोमीटर प...