Thursday, June 30News

हेल्थ

वेजाइना से सफ़ेद पानी आना एक बड़ी बीमारी है ?

वेजाइना से सफ़ेद पानी आना एक बड़ी बीमारी है ?

हेल्थ
Written By : Sushma tomar महिलाओं के स्वास्थ्य से जुड़े बहुत से ऐसे मुद्दे होतें हैं जिनपर कभी खुलकर बात नहीं कि जाती. ये मुद्दा सेक्स (SEX) भी हो सकता है और मासिकधर्म (periods) भी. लेकिन आज हम एक ऐसे मुद्दे पर बात करेंगे जिसे लेकर महिलाओं में भी दो मत बने हुए हैं. ये मुद्दा है वेजाइना से “सफेद पानी” का आना. कुछ महिलाएं सफेद पानी को कोई मुद्दा ही नहीं मानती औऱ बहुत सी महिलाएं ऐसी होती है जो इसे बहुत बड़ी बीमारी मान लेती है. वेजाइना यानी गुप्तांग से सफेद पानी का आना सभी महिलाओं के साथ एक कॉमन कंडीशन है. लेकिन इसके बारे में ज्यादा किसी को पता नहीं होता. क्योंकि कोई इस पर ध्यान ही नहीं देता. इसका एक कराण ये भी है कि कोई भी महिला सफेद पानी आने के पीछे की वजह तक नहीं जाती. वो नहीं जानती कि सफेद पानी आने के पिछे की कंडीशन क्या क्या हो सकती हैं. और वो ये तो बिल्कुल नहीं जानती की सफेद पानी...
बढ़ते वजन से है परेशान तो अपनाएं ये तरीका

बढ़ते वजन से है परेशान तो अपनाएं ये तरीका

हेल्थ
नई दिल्ली। आज कल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अपने खान पान पर ध्यान नहीं दे पाते। ऐसे में या तो हमारा वजन बढ़ जाता है या घट जाता है। लेकिन यहां हम बात करेंगे उन लोगों के बारे में जो अपने बढ़ते वजन से काफी परेशान है। और इससे छुटकारा पाना चाहते है लेकिन समझ में नहीं आता है कि कैसे ये बढ़ा हुआ वजन और चर्बी कम होगी। अगर आप भी अपने बढ़ते वजन से परेशान हैं और लाख कोशिश करके भी वजन नहीं कम कर पा रहे हैं तो परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि आज हम आपको 5 ऐसे तरीके बताए हैं जिसे अपनाकर आप तेजी से अपना वजन कम कर सकते हैं। 1. सुबह जल्दी उठे। जब आप जल्दी उठते हैं तो आपके अंदर एक ऊर्जा का संचार होता है, आपका मेटाबोलिज्म ठीक होता है।  इम्युनिटी बढ़ती है। इसके साथ ही सुबह जल्दी उठने से आप खुश रहते हैं। इसका एक फायदा ये भी है कि आप अपने दिन के सभी काम समय पर पूरा कर लेते हैं। यह सभी बातें ...
Health: जाने गिलोय के काढ़े के फायदे और बनाने की विधि

Health: जाने गिलोय के काढ़े के फायदे और बनाने की विधि

LifeStyle, हेल्थ
नई दिल्ली। कोरोना काल में लोग रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए कई तरह के उपाय कर रहे हैं, लेकिन इन सभी उपायों में गिलोय का काढ़ा सबसे बेहतर माना जा रहा हैं। यह काढ़ा सर्दी-जुखाम, बुखार इन सभी बीमारियों को दूर करने कारगर माना जाता हैं। तो आइए जानते है इसको बनाने की विधि के बारे में। जाने कैसे बनाएं गिलोय का काढ़ाइस काढ़े को बनाने के लिए सबसे पहले गिलोय के टुकड़े को एक पैन(बर्तन) में डालकर इसमें चार कप पानी मिलाएं। इसके बाद इसे कम आंच पर 20 मिनट तक उबाले। उबालने के बाद इसके नीम की पत्तियां, तुलसी की पत्तियां और काला गुड़ इसमें मिला दें। इस मिश्रण को तब तक उबाले जब तक की यह दो कप ना रह जाएं। इसको बाद इसे छानकर पी ले, लेकिन ध्यान रहे कि इस काढ़े को अधिक मात्रा में नहीं पीना चाहिए। गिलोय का काढ़ा प्रतिदिन एक कप पीना चाहिए। एक कप से ज्यादा मात्रा में काढ़ा पीने से आपको नुकसान भी हो ...
सिस्टम लापरवाह, जनप्रतिनिधि भी नहीं कस सके लगाम

सिस्टम लापरवाह, जनप्रतिनिधि भी नहीं कस सके लगाम

हेल्थ
डेंगू का डंक अचानक नहीं फैला। काफी पहले ही इसने आहट दी थी, लेकिन सरकारी सिस्टम लापरवाह बना रहा। मौसमी बीमारी बताकर लोगों को गुमराह किया गया। चिंताजनक बात तो यह रही कि इस सिस्टम पर निगरानी रखने वाले जनप्रतिनिधि भी लगाम नहीं कस सके। प्रयास कर अपने क्षेत्र में काम कराते तो हालात शायद इतने न बिगड़ते। अब बेकाबू होती स्थिति में अफसर से लेकर जनप्रतिनिधि गांव-गांव घूम बचाव और इलाज के प्रयासों में जुटे हैं। संचारी रोग नियंत्रण के लिए शहर और गांवों में फॉगिंग, एंटी लार्वा दवाओं का छिड़काव किया जा रहा है, लेकिन ये प्रयास करने में कुछ विलंब हुआ। एक-डेढ़ महीने पहले इसी तीव्रता के साथ कार्रवाई की जाती तो शायद यह हालात न होते। क्षेत्र में डेंगू और बुखार बहुत ज्यादा फैला हुआ है। कई लोगों की मौत हो चुकी है। अकेले गांवसिरसा बदन में ही 21 लोग मर चुके हैं। नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य विभाग से समन...
कोरोना के बाद अब कहर बरपा रहा है डेंगू, जानिए क्या है लक्षण

कोरोना के बाद अब कहर बरपा रहा है डेंगू, जानिए क्या है लक्षण

Trending, हेल्थ
नई दिल्ली। कोरोना के बाद अब डेंगू दिल्ली सहित पूरे एनसीआर में कहर बरपा रहा है। हालात ऐसे हैं कि ज्यादातर अस्पतालों में मरीजों को बेड तक नहीं मिल रहे हैं। खतरे की बात यह है कि दिल्ली में भी मरीजों में डेंगू स्टेन दो तरीके का देखने को मिल रहा है, जिसे काफी घातक माना जाता है। इस बार डेंगू बच्चों को भी ज्यादा चपेट में ले रहा है। बच्चों में तेज बुखार के साथ-साथ उल्टी, पेट में दर्द और सिरदर्द जैसे लक्षण दिख रहे हैं। इसी के साथ ही मरीजों में ठीक होने के बाद भी लंबे समय तक कमजोरी बनी रह रही है। आए दिन डेंगू के मामले निरंतर बढ़ते जा रहे हैं तो आइए आपको बताते हैं कि डेंगू का बुखार नॉर्मल बुखार से किस तरह अलग है। डेंगू का मच्छर काटने के एक-दो दिन बाद डेंगू बुखार के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। डेंगू में बुखार के साथ आंखें लाल हो जाती है और खून में कमी होने लगती है। वैसे तो बुखार आने के कई लक्षण...
भारत में टीकाकरण का स्कोर 100 करोड़ पार, जल्द होगी कोरोना की हार

भारत में टीकाकरण का स्कोर 100 करोड़ पार, जल्द होगी कोरोना की हार

हेल्थ
कोरोना के खिलाफ जंग में हमारे देश ने एक बड़ी सफलता हासिल कर ली है। इसी साल 16 जनवरी से शुरू हुए टीकाकरण अभियान के बाद तब से आज तक 100 करोड़ डोज से ज्यादा कोरोना टीके लोगों को लगाए जा चुके हैं। देश ने 280 दिनों में इस बड़ी सफलता को हासिल कर लिया है। अमित शाह ने इस ऐतिहासिक उपलब्धि पर पूरे देश को बधाई दी। https://twitter.com/AmitShah/status/1451053676009639941?s=20 उन्होंने ट्वीट कर कहा “अनेकों चुनौतियों को पार कर इस महायज्ञ में अपना योगदान देने वाले सभी वैज्ञानिकों, शोधकर्ताओं और स्वास्थ्यकर्मियों का आभार और हर व्यक्ति की सुरक्षा व स्वास्थ्य हेतु संकल्पित मोदी जी का अभिनन्दन करता हूं”। बता दें कि यह आंकड़ा आज सुबह 09 बजकर 47 मिनट पर पूरा किया गया। देश में 75 प्रतिशत युवा आबादी को कम से कम एक डोज लगाया जा चुका है और 31 प्रतिशत आबादी को दोनों डोज लग चुके हैं। 100 करोड़ डोज पूर...
संचारी रोग नियंत्रण अभियान, दस्तक अभियान को सफल बनाने हेतु निकाली गई जागरूकता रैली

संचारी रोग नियंत्रण अभियान, दस्तक अभियान को सफल बनाने हेतु निकाली गई जागरूकता रैली

हेल्थ
जिलाधिकारी ने फीता काटकर हरी झण्डी दिखाकर जागरूकता रैली को किया रवाना, दिलाई शपथ जनपद एटा। शासन के निर्देश पर 19 अक्टूबर से शुरू हुए संचारी रोग नियंत्रण अभियान, दस्तक अभियान को सफल बनाने के उद्देश्य से जनपद मुख्यालय कलक्ट्रेट से एक जनजागरूकता रैली का भव्य आयोजन किया गया। जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने जनजागरूकता रैली का फीता काटकर, हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया तथा मौजूद अधिकारियों, कर्मचारियों, छात्र, छात्राओं आदि को शपथ भी दिलाई। डीएम ने कहा कि अभियान के दौरान कोविड संवेदीकरण, बुखार से पीड़ित व्यक्तियों, नियमित टीकाकरण से छूटे बच्चों का चिन्हांकन आदि अन्य गतिविधियों का संचालन संबंधित विभाग आपसी सामंजस्य रखते हुए किया जाए। डीएम ने निर्देश दिए कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में जलभराव, साफ सफाई, एण्टी लारवा छिड़काव लगातार कराया जाए तथा लोगों को संचारी रोगों के प्रति लगातार जागरूक ...
बड़ों के मुकाबले बच्‍चों पर भी बढ़ा डेंगू का खतरा, अब तक 38 केस हुए दर्ज

बड़ों के मुकाबले बच्‍चों पर भी बढ़ा डेंगू का खतरा, अब तक 38 केस हुए दर्ज

हेल्थ
कपिल शर्मानाॅंगल चौधरी। मौसम में परिवर्तन होने से और मच्छरों के बढ़ते प्रकोप से लगातार बढ़ रहे डेंगू के मामलों ने कोरोना की तरह एक भय का माहौल उत्पन्न कर दिया है। इन दिनों डेंगू के काफी मामले सामने आ रहे हैं। बच्चों से लेकर बड़े और बूढ़े तक सभी बीमार हो रहे हैं। इसका प्रकोप सितंबर से नवंबर के बीच देखने को मिलता है। डेंगू की गंभीर स्थिति जानलेवा होती है। चौंकाने वाली बात ये है कि बड़ों के मुकाबले बच्चों में इसकी तीव्रता अधिक आंकी गई है। विधानसभा क्षेत्र नांगल चौधरी सीएचसी के अंतर्गत छह पीएचसी स्थित गांव सीरोही बहाली, गांव मंडाना, गांव आंतरी, गांव बुढ़वाल, गाँव बांयल, गांव ब्रह्मणवास स्थित अब तक 28 डेंगू के मामले पाए गए। हाल ही में ताज़ा 9 मामले मंडाना के दर्ज हुए हैं और 1 गांव बुढ़वाल से डेंगू रोगी दर्ज हुआ है। सीएचसी/पीएचसी के कुल आकंडों के अनुसार सितंबर माह से अब तक 38 डेंगू के मामल...
बुखार से हालत खराब, किशोरी सहित तीन की बुखार से मौत

बुखार से हालत खराब, किशोरी सहित तीन की बुखार से मौत

हेल्थ
एटा। बुखार से जिले में प्रतिदिन मौतें हो रही हैं। 24 घंटे के अंतराल में जलेसर तहसील क्षेत्र में एक किशोरी सहित तीन की मौत बुखार से हो गई। क्षेत्र के तीन गांवों में बुखार से हालात खराब हैं। गांव बेरनी निवासी 26 वर्षीय नरेश पुत्र रामजीलाल को चार दिन से बुखार आ रहा था। हालत खराब होने पर परिजन आगरा ले गए, जहां रविवार सुबह उसकी मौत हो गई। इसके अलावा गांव टिमरुआ निवासी 55 वर्षीय भीकमपाल को भी चार दिन से बुखार आ रहा था। सोमवार की सुबह उसकी भी मौत हो गई। वहीं अवागढ़ विकासखंड क्षेत्र के गांव बरा भड़ौला में 15 वर्षीय मधु पुत्री सुरेश चंद्र को दो दिन से बुखार आ रहा था। परिजन आगरा ले गए, वहां इलाज के दौरान रविवार रात मौत हो गई। क्षेत्र के गांव टिमरुआ, बेरनी और कोसमा के हालात ज्यादा खराब हैं। तीनों गांव में 200 से अधिक बुखार के पीड़ित हैं। ग्रामीणों की सीएचसी अधीक्षक से हुई कहासुनी बे...
नवरात्रि में कर रहे हैं व्रत तो इस दौरान ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी

नवरात्रि में कर रहे हैं व्रत तो इस दौरान ऐसे बढ़ाएं इम्यूनिटी

LifeStyle, हेल्थ
नई दिल्ली। 7 अक्टूबर से नवरात्रि की शुरूआत हो गई है। नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा की जाती है। इस दौरान कई भक्त पूरे 9 दिन तो कुछ लोग पहले और आखिरी दिन व्रत रख माता की उपासना करते हैं। व्रत कोई भी हो और कितने भी दिनों का हो, इसमें अपने खान-पान का खास ख्याल रखना चाहिए। कोरोना वायरस के इस दौर में सभी अपनी इम्यूनिटी को लेकर काफी सजग हैं। ऐसे में उपवास के दौरान इन चीजों का सेवन करना चाहिए। भूख को कंट्रोल करने में सहायक है मखानानवरात्रि के दौरान आप 5 बादाम, 1 अखरोट, 5 किशमिश रोजाना रात को भिगोकर रख दें और सुबह पूजा करने के बाद एक कप चाय या निवाय पानी के साथ सेवन करें। यदि आप सुबह व्रत में ब्रेकफास्ट करते है तो ऐसे में आप 1 कप दूध के साथ रोस्ट किए गए मखाना खाए। ये आपके भूख को कंट्रोल करता है इसके साथ ही आपको इम्यून भी करता है। इसके साथ ही आप केला का मिल्क शेक बनाकर खा...