Thursday, June 30News

विरोध के बीच “अग्निपथ योजना” को लेकर BJP ने ये कहा….

मंगलवार को नरेंद्र मोदी सरकार ने भारतीय सेना में अग्निपथनाम की योजना का एलान किया,  इस योजना के तहत छोटी अवधि के लिए सेना में नियुक्तियाँ की जाएंगी. इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश में बेरोज़गारी कम करने के साथ ही रक्षा बजट पर वेतन और पेंशन के बोझ को भी घटाना है. हालाँकि, सेना में अहम पदों पर रह चुके कुछ लोगों ने इस योजना पर चिंता जताई है.

तो वहीं कई अख़बारों ने सरकारी सूत्रों के हवाले से कहा है कि इस योजना का मक़सद लगातार बढ़ रहे वेतन और पेंशन के बोझ को कम करना है.

रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने भी मीडिया को बताया कि “इस योजना के तहत सरकार पेंशन के साथ ही अन्य भत्तों पर बचत करेगी. अग्निवीरों के लिए वेतन के लुभावने मोटे पैकेज, पूर्व सैनिकों का दर्जा और स्वास्थ्य स्कीम में अंशदान की ज़रूरत नहीं होगी.”

दूसरी और बिहार से यूपी तक आग्निपथ को लेकर देश के कई हिस्सों में भारी विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. सेना में भर्ती का इंतज़ार कर रहें युवाओं ने विरोध के दौरान रेलगाड़ियों में आग लगा दी.

लेकिन ये बवाल जिस योजना को लेकर हो रहा है पहले ज़रा उस योजना पर बात कर लेते हैं. अग्निपथ योज़ना का एलान केंद्र सरकार ने मंगलवार को किया. इस योजना के तहत सेना में युवाओं को चार साल तक काम करने के लिए मौक़ा मिलेगा. इसें जॉइन करने वाले 25 फ़ीसदी युवाओं को बाद में रिटेन किया जाएगा. यानी 100 में से 25 लोगों को सेना में पूर्णकालिक सेवा का मौक़ा मिलेगा.

इस बीच कांग्रेस टीएमसी औऱ आरजेडी जैसे दल इस योजना का विरोध करने लगे तो बीजेपी भी अग्निपथ के सपोर्ट में उतार आई. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि इस योजना से रोज़गार के अवसर बढ़ेंगे और देश की सुरक्षा मज़बूत होगी. रक्षा मंत्री ने युवाओं से अग्निवीर बनने की अपील की है. उनका कहना है कि अग्निवीर चार साल की सेवा के बाद रिटेन किए गए 25 फ़ीसदी सैनिकों को कहा जाएगा. तो दूसरी तरफ़ बीजेपी सांसद रवि किशन एक पोस्टर ट्वीट करते हुए ये बता रहे हैं कि अग्निवीर योज़ना के तहत 4 साल के लिए जो युवा सेना में भर्ती होंगे वे 4 साल के बाद क्या करेंगे. इस पोस्टर में 9 बातें लिखी हैं. जिनमें कहा गया है कि

  • 4 साल बाद ये युवा इतने ज्यादा डिसीप्लीन और स्किल से भर जाएंगे कि ये किसी भी नौकरी के लिए एक बेहतर विकल्प बनेंगे.
  • 4 में से 1 को पक्की नौकरी, करियर में Absorption का चांस मिलेगा. 4 साल बाद 31 Skilled  औऱ Disciplined अग्निवीर को कई बड़ी कंपनियों ने अपने यहाँ Hire करने का ऐलान किया है.
  •  इस योजना के तहत युवा 21 से 24 साल की आयु में लगभग 20 लाख की राशि जोड़ सकेंगे
  •  4 साल में 7-8 लाख की Savings कर सकेगे और युवाओ को 12 लाख केंद्र सरकार देगी.
  •  4 साल बाद ग्रह मंत्रलय ने योग्य अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने की बात कही है.
  • 4 साल में अग्निवीरों के लिए  ग्रेजुएशन डिग्री कोर्से शुरू होगा इस डिग्री को देश और विदेश में मान्यता मिलेगी.
  • 4 साल बाद कई राज्य सरकार जैसे उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा और असम ने अग्निवीरों को सेवा के उपरांत पुलिस व पुलिस के सहयोगी बलों में समायोजित करने में प्राथमिकता देने की बात कही है.

इसमें दो सवाल भी पूछे गए हैं पहला ये कि

  •  कितने लोगों के पास 21 से 24 साल के बीच 12 लाख की जमा पूँजी होती है ?
  • और दूसरा ये कि आप में से कितने लोग 24 साल के जीवन में Settle हो जाते हैं ?

बहरहाल इस पूरी य़ोजना की अगर बात करें तो कुछ ही बातें हैं जो स्पष्ट समझ आती हैं औऱ वो है कि अग्निपथ योजना में 4 साल के लिए युवाओं को सेना में भर्ती किया जाएगा. 4 साल बाद 100 में से सिर्फ 25 लोगो को पूर्णकालिक सेवा के लिए चुना जाएगा. लेकिन बाकी बचे 75 का क्या होगा इस पर केई पुख्ता बात नहीं कही गई है. यही कारण है कि युवाओं में गुस्सा है और उन का गुस्सा सड़को पर विरोध और रेल गाड़ियों में आगजनी के रूप में देखने को मिल रहा है.  

Leave a Reply

Your email address will not be published.