Sunday, May 28News

लॉकडाउन में सार्वजनिक जगहों पर अवैध कब्जा करने में तुले लोग

नांगल चौधरी। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर से देशभर में तालाबंदी का दौर चल रहा है। लेकिन, अतिक्रमणकारी कोरोना काल का फायदा उठाकर सरकारी संपति पर व सार्वजनिक भूमि पर कब्जा करने में तुले हैं।

पुलिस प्रशासन के आदेशों की अवेहलना और राज्य सरकार द्वारा दिए गए कोरोना प्रोटोकॉल को ताक पर रखते हुए लोग सार्वजनिक जगहों व सड़कों पर अवैध रूप से रखे गए लकड़ी के खोखे (अस्थायी दुकानें) जिनको सीमेंट मटीरियल से पक्का करने में जुटे हैं।

यह है पूरा मामला

आपको बता दें कि, विधान सभा क्षेत्र कस्बा नांगल चौधरी पुलिस थाना एक्सचेंज रोड स्थित रखे गए अवैध खोखे जिनका मालिकाना हक जताते हुए उक्त लोग उन लकड़ी के खोखे को दूकान का स्वरूप दे रहे हैं।

जानकारी के अनुसार सार्वजनिक स्थल पर निर्माण कार्य चलने के दौरान कुछ स्थानीय लोगों द्वारा आपत्ति जताई गई। मौखिक रूप से चल रहे निर्माण कार्य को रोकने का आव्हान किया गया।

लेकिन, उक्त अतिक्रमणकारी महिलाओं को आगे करके झगड़े व संघर्ष की नौबत पर उतारु हो जाते हैं। मुफ़्त की सरकारी संपति को हड़पने में माहिर कुछ लोग आवागमन सड़कों के किनारे रखे काठ के खोखों को ईंटों व सीमेंट मसाले से मजबूती दे रहे हैं और सीमेंटेड स्तंभ बनवाकर उन पर टीन शेड् लगवा रहें हैं।

कस्बे की नगर पालिका अवैध अतिक्रमण मामले पर क्‍या कार्यवाही करती है?

जानकारी के मुताबिक क्षेत्र के सभी सड़कों व गलियों और चौराहे पर रक्खे गए खोखे (अस्थायी दुकानें) को मालिकाना अधिकार जताते हुए उक्त लोगों ने नगर पालिका के टेंडरों पर कार्य कर रही कंस्ट्रक्शन ऐजेंसियों द्वार भूमि सर्वे सर्वेक्षण के दौरान गलत सूचना देकर खुद के नाम से फर्जी प्रोपर्टी आईडी बनवाकर निर्माण कार्य में जुटे हैं।

सार्वजनिक भूमि पर अतिक्रमणकारियों द्वारा यह सिलसिला लगातार जारी है। नगर पालिका के वरिष्ठ अधिकारियों को नींद से जागना चाहिए।

इस बाबत स्थानीय वासियों की अपील है कि कस्बे क्षेत्र में चल रहे अतिक्रमण मामलों पर संज्ञान लेते हुए और उन पर कड़ी नज़र रखते हुए उन सभी अतिक्रमणकारियों के ख़िलाफ उचित  कार्रवाई अम्ल में लाकर अवैध अतिक्रमण हटाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial