Thursday, June 30News

विश्व बुज़ुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस पर बुजुर्गों को एसएचओ ने दिया हितों की रक्षा का आश्वासन

नाॅंगल चौधरी
हर साल आज 15 जून के दिन दुनियाभर में ‘विश्व बुज़ुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस मनाया जाता है। यह दिन उन बुज़ुर्गों के पक्ष में आवाज उठाने के लिए मनाया जाता है जो दुर्व्यवहार से पीड़ित होते हैं। इस साल ‘वर्ल्ड एल्डर एब्यूज अवेयरनेस डे’ की थीम ‘सभी उम्र के लिए डिजिटल इक्विटी’ रखी गई है।

सामाज मे संपत्ति के लालच में कुछ पारिवारिक परिस्थितियों में बेटा-बहू और बेटी द्वारा अपने माता-पिता को बेआबरू करने की घटनाएं बढ़ रही है। परिवारों में बुजुर्ग माता पिता और दूसरे वृद्ध सदस्यों को बोझ समझा जाने लगा है। बुजुर्गों को कई बार तो उन्हें उनके ही स्वअर्जित घर से बेदखल करके दर बदर की ठोकरें खाने के लिये छोड़ दिया जा रहा है इतना ही नहीं उनको मौखिक अपशब्दों से ह्रदय घात पहुंचाया जाता है। कुछ परिवारों में देखा जा रहा है सुशिक्षित बेटे बहू उन्हें वृद्धाश्रम पहुंचा रहे हैं। यह समाज के लिए घोर निंदा का विषय बनता जा रहा है और इससे मजबूर होकर बुजुर्गो द्वारा कानूनी रास्ता अपनाने के मामले बढ़ रहे हैं। इस तरह की उद्दंड संतानों को माता पिता के घर से बेदखल करने के आदेश भी अदालत दे रही हैं लेकिन यह सिलसिला बदस्तूर जारी है।

सोसायटी फॉर एजुकेशन वेलफेयर एक्टिविटीज (सेवा) नांगल चौधरी के द्वारा चलाए जा रहे वरिष्ठ नागरिक सेवा ग्रह के सचिव जगदेव शर्मा की अध्यक्षता में बुधवार को विश्व बुजुर्ग दुर्व्यवहार जागरूकता दिवस पर प्रात: हवन के साथ कानूनी साक्षरता शिविर का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि स्वरूप थाना प्रभारी रामनाथ व जिला एवं सत्र न्यायाधीश चेयरमैन रजनीश बसंल, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अंजली जैन ने औचक निरीक्षण किया और वरिष्ठ नागरिकों की समस्या सुनी व उनकी समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया।

इस कार्यक्रम में कानूनी सलाहकार एवं वरिष्ठ अधिवक्ता धर्मेश जोशी ने बुजुर्ग पुरुष व महिलाओं को उनके कानूनी अधिकार और कानून में उनकी रक्षा किस प्रकार की जाए के बारे में विस्तार पूर्वक बताया। अधिवक्ता जोशी ने कहा कि, निराश्रित व्यक्ति के शुद्ध आचरण के लिए अच्छा वातावरण सुनिश्चित करना व बुजुर्गों को उनके सम्मान की रक्षा करना व उनके अधिकारों से अवगत कराना हम सभी का नैतिक दायित्व बनता है। इसी कड़ी में बुजुर्गों को वरिष्ठ नागरिक अधिनियम, घरेलू हिंसा, भरण पोषण अधिनियम के बारे में बताया गया इस मौके पर सदर थाना नांगल चौधरी के थाना प्रभारी राम नाथ बुजुर्गों के मध्य मौजूद रहे। एसएचओ रामनाथ ने बुजुर्गों को उनकी रक्षा करने के लिए उनको कानून संबंधी जानकारी दी साथ ही थाना प्रभारी ने इस शिविर में मौजूद गुर्जर बुजुर्ग माताओं और व्यक्तियों को यह विश्वास दिलाया कि जब तक वह स्वमं नांगल चौधरी में तैनात हैं तब तक बुजुर्गों के सम्मान में क्षति पहुंचाने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

एसएचओ ने बुजुर्गों को संबोधित करते हुए कहा कि, उन्हें किसी प्रकार की कोई पुलिस की सहायता की जरूरत होती है तो उस संदर्भ में उनका दरवाजा 24 घंटे खुला रहेगा। इस विशेष दिवस पर आश्रम की दिवार पर पुलिस हैल्प लाईन नबंर 112 भी लिखवाया गया।

इस विशेष दिवस अवसर पर शिविर में सेवा वृद्ध आश्रम के सचिव जगदेव, सुपरिंटेंडेंट अंजलि बुधराम, माता चमेली देवी, थानेदार वासुदेव, वीरसिंह यादव, योगाचार्य ओम प्रकाश शर्मा, राधेश्याम, बुधराम शर्मा, अमृत लाल आर्य, आर्य समाज के प्रधान राम सिंह पहलवान, अधिवक्ता लक्खीराम यादव, जगदेव शर्मा, काउंसलर पुनित कुमार व अन्य स्टाफ सहित वृद्धा आश्रम के सभी वृद्ध मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.