Newjport


केवीआईसी के अध्यक्ष मनोज कुमार ने दिल्ली के कनॉट प्लेस स्थित फ्लैगशिप खादी भवन में खादी कपड़ों से तैयार अलग-अलग रंग के सनातनी कुर्ते, अंगवस्त्रम और अन्य प्रकार के ‘सनातन वस्त्रों’ की बड़ी श्रृंखला लॉन्च की। सनातन वस्त्रों की डिजाइन निफ्ट स्थित खादी उत्कृष्टता केंद्र (सीओईके) में तैयार हुई है। उद्घघाटन कार्यक्रम में संबोधित करते हुए केवीआईसी अध्यक्ष मनोज कुमार ने बताया कि खादी के निर्माण में किसी भी प्रकार की यांत्रिक या रासायनिक प्रक्रिया शामिल नहीं होती है, इसलिए भारतीय परंपरा के अनुसार तैयार सनातन वस्त्र अपने आप में अद्वितीय हैं। उन्होंने आगे बताया कि इस अवसर पर खादी भवन, नई दिल्ली 17 से 25 जनवरी तक जहां सनातन वस्त्र पर 20% तक, वहीं खादी और ग्रामोद्योगी उत्पादों पर 10% से लेकर 60% तक की विशेष छूट की देने जा रहा है।

सनातन वस्त्रों की लांचिंग के अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) के अध्यक्ष मनोज कुमार ने कहा कि बदलते समय के साथ राष्ट्र ने माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में खादी का एक नया और परिवर्तित रूप देखा है, जो सिर्फ एक वस्त्र नहीं बल्कि एक दर्शन है, एक जीवन शैली है। उन्होंने आगे कहा कि माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने खादी को ‘खादी फॉर नेशन खादी फॉर फैशन और खादी फॉर ट्रांसफॉरमेशन’ के रूप मे परिभाषित किया है। इसी दर्शन के आधार पर आधुनिक समय की जरूरत को ध्यान में रखते हुए खादी के सनातन वस्त्रों को तैयार किया गया है जो अतीत के गौरवपूर्ण इतिहास से वर्तमान के लिए एक उपहार है। उन्होंने दोहराया कि सनातन वस्त्र के लॉन्च के साथ केवीआईसी युवाओं को स्वदेशी के साथ जोड़ना चाहता हैं क्योंकि खादी का विस्तार, ग्रामीण भारत के लाखों कारीगरों के जीवन में सुधार का हिस्सा है।


केवीआईसी अध्यक्ष ने कहा कि जिस खादी को पूज्य बापू ने भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में स्वदेशी आंदोलन के दौरान ब्रिटिश शासन के विरूद्ध संघर्ष का सबसे प्रभावशाली हथियार बनाया था, अब खादी को उसका वही पुराना गौरव दिलाने की ज़िम्मेदारी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ली हैं। उन्होंने बताया कि पिछले 9 वर्षों में खादी और ग्रामोद्योगी उत्पादों का कारोबार 1.34 लाख करोड़ रुपये के आकंड़े को पार गया है। खादी वस्त्र का उत्पादन 880 करोड़ रुपये से बढ़कर 3000 करोड़ रुपये हो गया है और खादी उत्पादों की बिक्री 1170 करोड़ रुपये से बढ़कर 6000 करोड़ रुपये हो गई है।
दिल्ली में कनॉट प्लेस के शोरूम के मैनेजर अजय सिंह ने बताया है खादी महोत्सव के दौरान इस फ्लैगशिप शोरुम में एक दिन में 1.5 करोड़ रुपये और खादी भंडार में एक महीने में 25 करोड़ रुपये की बिक्री हुई। सबसे बड़ी बात यह कि दिल्ली के अंतरराष्ट्रीय व्यापार मेला में 15 दिन में 15 करोड़ रुपये की खादी की बिक्री हुई, जो अपने आप में एक कीर्तिमान है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *